ad 1

क्या मारने वाले का फोटो सांप की आंख मे आ जाता है ? (KYA SAAP KO MARNE WALE KI PHOTO USKI AANKH ME AA JATI HAI)


➤ क्या मारने वाले का फोटो सांप की आंख मे आ जाता है ? (KYA SAAP KO MARNE WALE KI PHOTO USKI AANKH ME AA JATI HAI)



हकीमुल उम्मत मुफ्ती अहमद यार खान नईमी  رحمة الله عليه फरमाते हैं : 


पेहले जोहलाए अरब केहते थे ओर जोहलाए हिन्द अब तक केहते हैं कि सांप को मारने वाले से उसकी नागनी बदला लेती है इस लिए सांप को मत मारो। इस फरमाने आली मे इसी ख्याल की तरदीद (इन्कार) है भला सांपनी को क्या खबर किसने मारा है? लोगो मे ये मशहूर है कि "मारे हुए सांप की आंखो मे मारने वाले का फोटो आ जाता है, उस फोटो से नागीन कातील को पेहचान लेती है इस लिए सांप को मार कर उसका सर जला दिया जाए ताकि आंख मे फोटो न रहे" *ये भी गलत है*, उस का सर जलाना उसे मार डालने के लिए है, वोह लाठी खा कर बेहोश हो जाता है, लोग मुर्दा समझ कर छोड देते हैं, वोह कुछ अर्से बाद फिर होश मे आ कर चला जाता है, आग मे जलाना इस लिए है ताकि वाकेइ मर जाए ।  

ख्याल रहे जब तक सांप उल्टा न पड जाए कि पेट उपर आ जाए तब तक वोह जिन्दा है ।

( مرآة المناجيح ، جلد 5 ، صفحہ 678 )


➤ दुसरा ये मस्अला भी जहेन मे रखे कि :


( HAR VO JANWAR JO APKO NUKSAN PAHUCHAYE USKO MARNA JAIZ HAI )


वोह हैवानात जो तकलीफ देते हैं उनको मारना जाइज है मसलन काट खाने वाला कुत्ता, नुकशान पहोचाने वाली बिल्ली, चील कव्वा, गिरगिट, छिपकली, सांप, बिच्छु, चूंहा, खटमल, मच्छर, पिस्सू, मख्खी वगैरह का मारना जाइज है अगरचे हरम मे हो (या मस्जिद मे हो फिर भी मारना जाइज है)


(درمختار  ، جلد 1 ،صفحہ517 ،بہارِ شريعت، جلد 1 ، صفحہ1082)


💗💗💗💗💗💗💗💗💗

No comments