ad 1

जंगे बद्र में शहीद हुए शोहदाओ के नाम (Shuhdah E Jung E Badr)





 शुहदाए बद्र के नाम :

जंगे बद्र में कुल चौदह मुसलमान शहादत से सरफ़राज़ हुए जिन में से छे मुहाजिर और आठ अन्सार थे।


शुहदाए मुहाजिरीन (मक्का से हिजरत कर के मदीना बसने वालो को मुहाजिर कहते है) के नाम यह है : 

(1) हज़रते उबैदा बिन अल हारिस
(2) हज़रते उमैर बिन अबी वक़्क़ास
(3) हज़रते ज़ुश्शिमालैन उमैर बिन अब्दे अम्र
(4) हज़रते आकिल बिन अबी  बुकैर
(5) हज़रते महजअ 
(6) हज़रते सफवान बिन बैज़ा


और अन्सार के नामो की फेहरिस्त यह है : 

(7) हज़रते सा'द बिन खैसमा
(8) हज़रते मुबश्शिर बिन अब्दुल मुन्ज़िर
(9) हज़रते हारिसा बिन सुराक़ा
(10) हज़रते मुअव्वज़ बिन अफरा
(11) हज़रते उमैर बिन हमाम 
(12) हज़रते राफेअ बिन मुअल्ला
(13) हज़रते औफ बिन अफरा
(14) हज़रते यज़ीद बिन हारिस

(माखूज़ अज़ : सीरते मुस्तफ़ा ﷺ  सफ़हा 233)

➤ अल्लाह तआला इन सभी शुहदाए बद्र رضي الله تعالى عنهم के सदके तुफैल तमाम मुसलमानो की हिफाज़त फ़रमाये।

➤ *ऐक बार सुरह फातेहा और तिन बार सुरह इख्लास पढ कर इसका सवाब शुहदाए बद्र को पहोचाये..*



Shuhada-e-Badr Ke Mubarak Naam...

Shuhada (Muslim Martyrs of the Battle of Badr)

1. Hazrat Syeduna Haritha bin Suraqa al-Khazraji, رضي الله ﺗﻌﺎﻟﯽٰ عنه

2. Hazrat Syeduna Dhush-shimaalayn ibn ‘Abdi ‘Amr al-Muhajiri, رضي الله ﺗﻌﺎﻟﯽٰ عنه

3. Hazrat Syeduna Rafi’ bin al-Mu’alla al-Khazraji, رضي الله ﺗﻌﺎﻟﯽٰ عنه

4. Hazrat Syeduna Sa’d bin Khaythama al-Awsi, رضي الله ﺗﻌﺎﻟﯽٰ عنه

5. Hazrat Syeduna Safwan bin Wahb al-Muhajiri, رضي الله ﺗﻌﺎﻟﯽٰ عنه

6. Hazrat Syeduna ‘Aaqil bin al-Bukayr al-Muhajiri, رضي الله ﺗﻌﺎﻟﯽٰ عنه


7. Hazrat Syeduna ‘Ubayda bin al-Harith al-Muhajiri, رضي الله ﺗﻌﺎﻟﯽٰ عنه

8. Hazrat Syeduna ‘Umayr bin al-Humam al-Khazraji, رضي الله ﺗﻌﺎﻟﯽٰ عنه

9. Hazrat Syeduna ‘Umayr bin Abi Waqqas al-Muhajiri, رضي الله ﺗﻌﺎﻟﯽٰ عنه

10. Hazrat Syeduna ‘Awf bin al-Harith al-Khazraji, رضي الله ﺗﻌﺎﻟﯽٰ عنه

11. Hazrat Syeduna Mubashshir bin ‘Abdi’l Mundhir al-Awsi, رضي الله ﺗﻌﺎﻟﯽٰ عنه

12. Hazrat Syeduna Mu’awwidh bin al-Harith al-Khazraji, رضي الله ﺗﻌﺎﻟﯽٰ عنه

13. Hazrat Syeduna Mihja’ bin Salih al-Muhajiri, رضي الله ﺗﻌﺎﻟﯽٰ عنه

14. Hazrat Syeduna Yazid bin al-Harith bin Fus.hum al-Khazraji, رضي الله ﺗﻌﺎﻟﯽٰ عنه




No comments