ad 1

जानिये ! किन वजह से हमारी दुआ क़ुबूल नही होती है?




हजरत शफीक बलखी रहमतुल्लाह फरमाते है: 

की एक रोज हजरत ईब्राहीम बिन अदहम बसरा के बाजार से गुजर रहे थे । तो लोगों ने आपके खिदमत मे हाजिर होकर अर्ज की हुजूर कुरआन मे अल्लाह तआला ने फरमाया है कि तुम मुझसे दुआ मांगते रहो मे कूबुल करुंगा..... 



पर हम एक मुद्दत से दूआ मांगते रहे है मगर हमारी दुवा कूबुल नही होती....??

अल्लाह  हमारी दुआ कूबुल नही करता..! आखिर ईसकी वजह क्या है..?

तो हजरत ने जवाब दिया कि ऐ लोगों..!!

सुनो तुम्हारे दिल दस चिजों से मुर्दा हो गया है फिर तुम्हारे दुआ कैसे कबुल होगी !! अल्लाह  दुआ कैसे कूबुल करेगा..??

1 तुमने खुदा को पहचाना है सही मगर उसकी मारफत का अच्छी तरह से हक अदा ना किया...!!

2  तुमने कुरआन को पढ़ा सही पर उसपर अमल ना किया ...!!

3  तुमने मुहब्बत ऐ रसुल ﷺ का दावा तो किया सही पर उनकी सुन्नत पर अमल ना किया..!

4 तुुमने अदावते शैतान का दावा तो किया सही मगर उसकी मुखालफत ना की..!!


👉शुगर की बीमारी (Diebetes) का रूहानी इलाज (The Power Of Quran Sharif)


👉इस अमल से आपकी हर मुसीबत होगी दूर, छोटा सा अमल है एक बार जरूर करे.

5  तुमने जन्नत को चाहा सही मगर उसकी दुखुल के लिए अमल ना किया..!!!

6  तुमने जहन्नम से पनाह मांगी सही मगर ही अपनी नफ्स को उसमे डाल दिया...!

7  तुमने मौत को हक जाना है सही मगर उसके लिये तैयारी ना की...!!

8  तुमने भाईयों की ऐब नीकाली मगर अपने ऐब ना देखे..!!

9  तुमने अल्लाह की नैमते खाई सही मगर उसका शुक्र अदा ना किया..!!

10 तुमने मुर्दों को दफ्न किया है सही मगर ईबरत हासिल ना किये..!!

दुर्रतुन्नासिहीन सफा 513







अस्तगफिरुल्लाह अल्लाह रब्बुल इज्ज़त हर ईमान वाले को इन सब ऐबों से बचने की तौफ़ीक़ अता फ़रमाऐ....
अल्लाह हम सबको अमाल करने की तौफिक फरमाए.. आमीन ...

पोस्ट पढ़ने के बाद दिल करे तो शेयर जरुर करे.

No comments